सोलर स्टॉर्म क्या है? (Solar Storm In Hindi)

Solar Strom (सौर तूफान) जिसे Geomagnetic Storm (भूचुंबकीय तूफान) के नाम से भी जाना जाता है। आप यदि Solar Strom के विषय में संपूर्ण जानकारी प्राप्त करना चाहते है, तो आप मैं आपको बता दू की इस लेख में मैंने सौर तूफान (Solar Storm In Hindi) के बारे पूर्ण जानकारी सरल शब्दों में आपके साथ साझा करने की प्रयास की है, अत: आप इस लेख को अंत तक अवश्य पढ़े।

Solar Storm In Hindi

Solar Storm पृथ्वी का चुंबकमंडल की एक अस्थायी बाधा है, जिसका निर्माण सौर हवा के तेज लहर या चुंबकीय क्षेत्र का बादल (जो पृथ्वी के चुंबकीय क्षेत्र के साथ संपर्क करता है।) के कारण होता है।

पृथ्वी का चुंबकमंडल में आने वाली अस्थायी बाधा Co-rotating Interaction Region या Coronal Mass Ejection के वजह से आ सकती है, Co-rotating Interaction Region या Coronal Mass Ejection सौर हवा की उच्च गति धारा है, जो Coronal Hole (सूर्य का एक क्षेत्र जहां सूर्य का कोरोना ठंडा होता है।) से उत्पन्न होता है।

Solar Storm की आवृत्ति Sunspot चक्र के कारण बढ़ती और घटती रहती है, यानी ‌जब Solar Maximum (Sunspot बहुत बड़ा होता है।) तब Solar Storm आते हैं, जिनमें से अधिकांश Solar Storm (सौर तूफान) Coronal Mass Ejection के कारण आते हैं।

विश्व का अब तक का सबसे बड़ा Solar Storm 1859 के सितंबर माह में आया था, जिसे The Carrington Event के नाम से भी जाना जाता है, जिसके कारण अमेरिका में Telegraph System को भारी क्षति हुई थी।

Solar Storm Definition In Hindi

Solar Storm को DST Index यानी Disturbance Storm Time Index की सहायता से परिभाषित किया जाता है, DST Index चुंबकीय भूमध्य रेखा के मैग्नेटोमीटर स्टेशनों के माप के‌ अधार पर पृथ्वी के चुंबकीय क्षेत्र के क्षैतिज घटक के विश्व स्तर पर औसत परिवर्तन का अनुमान लगाता है।

DST का गणना प्रति घंटे में एक बार वास्तविक समय पर किया जाता है, शांत समय के दौरान DST +20 और −20 नैनो-टेस्ला (nT) के बीच होता है।

Phases Of Solar Storm In Hindi

Solar Storm के मुख्यत: तीन Phases होते हैं, जो Initial Phase, Main Phase एव Recovery Phase है।

Initial Phase

जब DST 10 मिनट में बढ़कर 20 से 50 नैनो-टेस्ला (nT) हो जाता है, तो‌ इसे Initial Phase कहते हैं। Initial Phase को SSC यानी ‌Storm Sudden Commencement भी कहा जाता है।

Main Phase

जब DST घटकर −50 नैनो-टेस्ला (nT) से कम हो‌ जाता है, तो‌ इसे Main Phase कहते हैं।‌ Main Phase की अवधि आमतौर पर 2-8 घंटे होती है।

Recovery Phase

जब DST अपने Minimum Value से बदलकर Quite Time Value हो‌ जाता ‌है, तो इसे Recovery Phase कहते हैं। Recovery Phase की अवधि न्यूनतम 8 घंटे और अधिकतम 7 दिन होता है।

ऊपर दी गई जानकारियां पढ़ने के बाद आपको सौर तूफान (Solar Storm In Hindi) के बारे में संपूर्ण जानकारी प्राप्त हो चुकी होगी, यदि आपके पास इस लेख से संबंधी कोई प्रश्न हो तो नीचे कमेंट करके अवश्य पूछें, हम जल्द से जल्द आपके प्रश्न का उत्तर देने का प्रयास करेंगे।

Solar Storm

Post a Comment

0 Comments